Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
  • Home ›  
  • Sankashti Chaturthi 2023 | संकष्टी गणेश चतुर्थी, पूजन विधि, महत्व, लाभ,चतुर्थी की सूचि ओर क्या करना चाहिए

Sankashti Chaturthi 2023 | संकष्टी गणेश चतुर्थी, पूजन विधि, महत्व, लाभ,चतुर्थी की सूचि ओर क्या करना चाहिए

Sankashti Chaturthi 2023
November 7, 2022

संकष्टी गणेश चतुर्थी 2023 – Sankashti Chaturthi 2023

Sankashti Chaturthi 2023 – संकष्टी गणेश चतुर्थी या संकटहरा चतुर्थी का त्यौहार भगवान श्री गणेश जी को ही पूर्ण रूप से समर्पित है। श्रद्वालू इस दिन अपने जीवन के बुरे समय व जीवन की सभ कठिनाईओं को दूर करने हेतु भगवान श्री गणेश जी की पूजा-अर्चना करते हैं। इस संकष्टी गणेश चतुर्थी के त्यौहार को वर्ष के प्रत्येक माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्थी की तिथि को मनाया जाने वाला त्यौहार है। दक्षिणी राज्य तामिलनाडू में इसे संकट हरा चतुर्थी के नाम से जाना जाता है। यदि मंगलवार के दिन पड़ने वाली इस चतुर्थी को अंगरकी चतुर्थी कहा जाता है और इसे सबसे शुभ और मंगलकारी माना जाता है

Sankashti Chaturthi 2023 – हमारे हिन्दू पंचांग में हर एक चन्द्र माह में दो चतुर्थी की तिथि होती है। पूर्णिमा के पश्च्यात आने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहते है। तथा अमावस्या के पश्च्यात आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते है। भारत के उत्तरी राज्यों एवं दक्षिणी राज्यों में संकष्टी चतुर्थी का त्यौहार धूम धाम सें मनाया जाता है। संकष्टी शब्द को संस्कृत भाषा से लिया गया है इसका मतलब होता है ‘कठिन समय से मुक्ति पाना’ ।

साल 2023 में आने वाली संकष्टी चतुर्थी की सूचि – Saal 2023 Me Aane Wali Sankashthi Chaturthi Ki Chaturthi

 

तिथि  महीना  वर्ष  दिनांक / वार 
संकष्टी चतुर्थी जनवरी  2023  10 जनवरी (मंगलवार)
संकष्टी चतुर्थी फरवरी  2023  09 फरवरी (गुरुवार)
संकष्टी चतुर्थी मार्च   2023   11  मार्च (शनिवार)   
संकष्टी चतुर्थी अप्रैल 2023 10  अप्रैल (सोमवार)
संकष्टी चतुर्थी   मई 2023   09 मई (मंगलवार)
संकष्टी चतुर्थी जून    2023 07  जून (बुधवार)
संकष्टी चतुर्थी जुलाई 2023   06 जुलाई (गुरुवार)
संकष्टी चतुर्थी अगस्त 2023 05 अगस्त (शनिवार)
संकष्टी चतुर्थी सितम्बर 2023 03 सितम्बर (रविवार)
संकष्टी चतुर्थी अक्टूबर 2023   02 अक्टूबर (सोमवार)
संकष्टी चतुर्थी नवम्बर 2023 01 नवम्बर (बुधवार)
संकष्टी चतुर्थी   दिसम्बर   2023 01 दिसम्बर (शुक्रवार)
संकष्टी चतुर्थी दिसम्बर   2023 31 दिसंबर (रविवार)

 

संकष्टी चतुर्थी की पूजन विधि – Sankashthi Chaturthi Ki Pujan Vidhi 

Sankashti Chaturthi 2023 – भक्तगण इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि से निवृत होकर भगवान श्री गणेश जी की पूजा-अर्चना करते हैं एवं व्रत/उपवास रखते हैं। जो भक्त इस दिन व्रत रखते हैं वह केवल/हरी कच्ची सब्जियां,फल,साबुदाना, मूंगफली और आलू का ही सेवन करते हैं। शाम के समय भगवान श्री गणेश जी की प्रतिमा या मूर्ति को ताजे फूलों से सजाते है। चन्द्र दर्शन करने के बाद पूजा-अर्चना की जाती है एवं व्रत कथा का पठन-पाठन किया जाता है। तथा इसके बाद में ही इस संकष्टी चतुर्थी का व्रत सम्पन माना जाता है।

संकष्टी चतुर्थी का महत्व – Sankashthi Chaturthi Ka Mahatva 

Sankashti Chaturthi 2023 – संकष्टी चतुर्थी के दिन चन्द्र दर्शन करने को बहुत ही शुभ और मंगलकारी माना जाता है। चन्द्रोदय के बाद में ही इस व्रत को पूर्ण माना जाता है। मान्यता ऐसी भी है कि जो भी व्यक्ति इस संकष्टी चतुर्थी के दिन व्रत रखता है उसकी सभी मनोकामनाएं भी पूर्ण होती हैं। पूरे वर्ष में संकष्टी चतुर्थी के कुल 13 व्रत रखे जाते हैं प्रत्येक व्रत के लिए एक अलग व्रत की कथा है। ‘अदिका’ नाम की कथा जो कि सबसे आखिर व्रत में चार वर्ष बाद एक बार ही पढ़ी जाती है 

संकष्टी चतुर्थी के लाभ – Sankashthi Chaturthi Ke Labh 

Sankashti Chaturthi 2023 – इस संकष्टी चतुर्थी व्रत के अनेको प्रकार से मनुष्य को लाभ मिलते है।  जिसमे से कुछ लाभ इस प्रकार से है :- 

  1. Sankashti Chaturthi 2023 – भगवान् श्री शिव के पुत्र भगवान् श्री गणेश की इस दिन पूजा-अर्चना की जाती है। इस संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान् श्री गणेश की पूजा करने से मनुष्य के सभी कष्ट भगवान् श्री गणेश की कृपा से नष्ट हो जाते है। संकष्टी चतुर्थी का मतलब होता है संकटो को हरने वाली चतुर्थी इस दिन व्रत करने से मनुष्य के सभी कष्ट और विघ्न दूर हो जाते है। 
  2. Sankashti Chaturthi 2023 – इस संकष्टी चतुर्थी के व्रत का पालन निरंतर करने से मनुष्य के कष्ट दूर होते है और आर्थिक लाभ की प्राप्ति भी होती है। 
  3. Sankashti Chaturthi 2023 – संकष्टी चतुर्थी के व्रत को करने से घर की सभी नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और इसके साथ -साथ घर में सुख शांति बानी रहती है। 
  4. Sankashti Chaturthi 2023 – ऐसा माना जाता है की संकष्टी चतुर्थी के दिन व्रत करने से घर में आने वाली सभी प्रकार की विपदाओं को दूर करते है। और मनुष्य की सभी मनोकामना को पूर्ण करते है। 
  5. Sankashti Chaturthi 2023 – संकष्टी चतुर्थी के दिन श्री गणेश वंदना के साथ -साथ हमे श्री गणेश जी के मंत्रो का भी जप करना चाहिए। ऐसा करने से हमारे मन्न में भी शांति बानी रहती है। और मष्तिष्क भी चिंता मुक्त हो जाता है। 

 संकष्टी चतुर्थी के दिन क्या करना चाहिए – Sankashthi Chaturthi Ke Din Kya Karna Chahiye 

  1. संकष्टी चतुर्थी के दिन हमे सूर्योदय से पहले उठ कर स्नान आदि से निवृत हो जाना चाहिए। 
  2. फिर साफ़ और स्वच्छ वस्त्र को धारण करना चाहिए। उसके बाद अपने घर के पूजा स्थान पर साफ़ सफाई करें। और गंगाजल का छिड़काव करके पूजन स्थल को पवित्र करें 
  3. फिर भगवान् श्री गणेश जी मूर्ति को पुष्प,और जनेऊ अर्पण करे। और फिर मोतीचूर के लड्डू का भोग लगाएं। 
  4. अपने परिवार सहित भगवान् श्री गणेश के मंत्रो को जपे और उच्च स्वर में आरती का गायन करें। 
  5. अपनी पूजा संपन्न करने के बाद मोतीचूर के लड्डू को प्रसाद के रूप में सभी में बाँट दें। 
  6. ऐसा करें से भगवान श्री गणेश अति प्रसन्न होते है और अपने भक्तो पर अपनी कृपा बरसाते है  

Latet Updates

x