Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
  • Home ›  
  • श्री राम जी आरती हिंदी एवं इंग्लिश लिरिक्स – Shree Ram Ji Aarti Lyrics in Hindi And English

श्री राम जी आरती हिंदी एवं इंग्लिश लिरिक्स – Shree Ram Ji Aarti Lyrics in Hindi And English

श्री राम जी आरती
January 25, 2023

Advertisements
Advertisements

श्री राम जी आरती हिंदी एवं इंग्लिश लिरिक्स – जय श्री राम 

श्री राम जी आरती – श्री राम को हिंदू धर्म में सबसे महत्वपूर्ण और पूजनीय शख्सियतों में से एक माना जाता है। वह विष्णु के सातवें अवतार हैं, जो हिंदू देवताओं में सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक हैं। कहा जाता है की श्री राम जी आरती जिस घर में प्रतिदिन  की जाती है उस घर में सुख शांति बनी रहती है। साथ में इनके परम भक्त बालाजी की आरती भी करनी चाहिए। श्री राम को कई लोग धर्म और आदर्श मानव व्यवहार का अवतार भी मानते हैं।

श्री राम जी आरती – श्री राम की कहानी सबसे महत्वपूर्ण हिंदू ग्रंथों में से एक रामायण में बताई गई है। श्री राम को उनकी सौतेली माँ कैकेयी द्वारा चौदह वर्ष के लिए वनवास भेजा गया था । अपने वनवास के दौरान,मिथिला के राजा जनक की पुत्री सीता से मिलते हैं और उनसे विवाह करते हैं। रावण, माता सीता का अपहरण करके उन्हें लंका के अपने राज्य में ले जाते है। श्री राम तब लंका में एक सेना का नेतृत्व करते हैं, रावण का वध  कर, माता सीता को रावण से स्वतंत्र करवाते  हैं।

श्री राम जी आरती – अयोध्या लौटने के बाद, श्री राम का राज्याभिषेक होता है। श्री राम की कहानी न केवल अपने धार्मिक मूल्य के लिए बल्कि अपने नैतिक और नैतिक पाठों के लिए भी हिंदुओं के लिए महत्वपूर्ण है। श्री राम हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं और उनकी कहानी आज भी हिंदुओं के लिए प्रासंगिक और सार्थक है।

श्री राम आरती हिंदी लिरिक्स 

॥ आरती श्री रामचन्द्रजी ॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन,हरण भवभय दारुणम्।

नव कंज लोचन, कंज मुख करकंज पद कंजारुणम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

कन्दर्प अगणित अमित छवि,नव नील नीरद सुन्दरम्।

पट पीत मानहुं तड़ित रूचि-शुचिनौमि जनक सुतावरम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

भजु दीनबंधु दिनेशदानव दैत्य वंश निकन्दनम्।

रघुनन्द आनन्द कन्द कौशलचन्द्र दशरथ नन्द्नम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

सिर मुकुट कुंडल तिलकचारू उदारु अंग विभूषणम्।

आजानुभुज शर चाप-धर,संग्राम जित खरदूषणम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

इति वदति तुलसीदास,शंकर शेष मुनि मन रंजनम्।

मम ह्रदय कंज निवास कुरु,कामादि खल दल गंजनम्॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

मन जाहि राचेऊ मिलहिसो वर सहज सुन्दर सांवरो।

करुणा निधान सुजानशील सनेह जानत रावरो॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

एहि भाँति गौरी असीससुन सिय हित हिय हरषित अली।

तुलसी भवानिहि पूजी पुनि-पुनिमुदित मन मन्दिर चली॥

श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन…॥

 

श्री राम आरती इंग्लिश लिरिक्स 

श्री राम आरती इंग्लिश लिरिक्स 

॥ Aarti Shri Ramachandraji ॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman,Haran Bhavbhay Darunam।

Nav Kanj Lochan, kanj Mukh KarKanj Pad Kanjarunam॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

Kandarp Aganit Amit Chhavi,Nav Neel Neerad Sundaram।

Pat Peet Maanahu Tadit Ruchi-ShuchiNaumi Janak Sutavaram॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

Bhaju Deenbandhu DineshDanav Daitya Vansh Nikandanam।

Raghunand Anand Kand KaushalChandra Dasharath Nandanam॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

Shir Mukut Kundal TilakCharu Udar Ang Vibhushanam।

Ajanubhuj Shar Chap-DharSangram Jit Khardushnam॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

Iti Vadati Tulsidas,Shankar Shesh Muni Man Ranjanam।

Mam Hriday Kanj Nivas Kuru,Kaamadi Khal Dal Ganjanam॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

Man Jahi Raacheu MilahiSo Var Sahaj Sundar Sanvaro।

Karuna Nidhaan SujaanSheel Saneh Janat Ravro॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

Aehi Bhanti Gauri AsisSun Siy Hit Hiy Hiy Harshit Ali।

Tulsi Bhavanihi Poojee Puni PuniMudit Man Mandir Chali॥

Shri Rama Chandra Kripalu Bhajuman…॥

आपका इस ब्लॉग पर स्वागत है इसी प्रकार की अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर बने रहिये और शेयर भी करिये, हमारा उद्देश्य आपको प्रतिदिन कुछ नया सिखाने  का और सभी प्रकार जी जानकारी प्रदान करने का रहता है  – जय श्री राम

अन्य जानकारी :-

Latet Updates

x