Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
  • Home ›  
  • गणेश जी की आरती | पूजा में करें गणेशजी की आरती | Ganesh Ji Ki Aarti

गणेश जी की आरती | पूजा में करें गणेशजी की आरती | Ganesh Ji Ki Aarti

गणेश जी की आरती
February 23, 2021

जानिए गणेश जी की आरती और गणेश चतुर्थी पर गणपति बप्पा की आरती करें

गणेश जी की आरती – गणेश चतुर्थी एक ऐसा त्यौहार है जो भगवान गणेश के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। विघ्नहर्ता (बाधाओं का निवारण) के रूप में, भगवान गणेश पहली बार भाद्रपद में चतुर्थी तिथि, शुक्ल पक्ष को अस्तित्व में आए। यह त्योहार महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु , गोवा और कई राज्यों में मनाया जाता है। इन दिनों, देश और विदेश में भी लोग इस त्योहार को मनाते हैं। लोग अपने घर पर भगवान गणेश की पूजा करते हैं और भगवान गणेश की बड़ी-से-बड़ी मूर्तियों के अस्थायी निवास पंडालों का भी दौरा करते हैं।

आरती एक ऐसा गीत है जो किसी देवता की कृपा और शक्तियों का गुणगान करता है। सभी विघ्न दूर करने के लिए गणेश भक्त बप्पा की पूजा-अर्चना करते हैं साथ ही उनकी आरती भी गाते है।

गणेश चतुर्थी की आरती

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,
चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे,
मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,
और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे,
संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,
कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत,
निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए,
सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,
शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो,
जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती,
पिता महादेवा ॥

Read More

Latet Updates

x