Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
  • Home ›  
  • Gantantra Divas 2023 | गणतंत्र दिवस, कब है, अनन्य जानकारी, कहा मनाया जाता है, पुरस्कार, महत्व

Gantantra Divas 2023 | गणतंत्र दिवस, कब है, अनन्य जानकारी, कहा मनाया जाता है, पुरस्कार, महत्व

Gantantra Divas 2023
November 16, 2022

गणतंत्र दिवस 2023 – Gantantra Divas 2023

Gantantra Divas – जैसा की आप सभी जानते है की हर साल 26 जनवरी को ही गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। इसके पीछे का रहस्य ये है की हमारा भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 के दिन ही हमारे देश में संविधान लागू हुआ था। गणत्रता दिवस भारत देश का राष्ट्रीय पर्व है। इसीलिए प्रति वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।  

26 नवंबर 1949 को देश की संविधान सभा ने वर्तमान के संविधान को विधिवत रूप से मानते है। इसीलिए इस दिन को संविधान दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। 

गणतंत्र दिवस कब है – Gantantra Divas Kab Hai 

Gantantra Divas – साल 2023 में यह राष्ट्रिय पर्व 26 जनवरी को मनाया जायेगा। इस दिन भारत देश का झंडा (तीरंगा) फहराया जाता है भारत देश के सैनिको के लिए ये दिन बहुत ही प्रमुख दिवसों में से एक है। इस दिन हर भारतीय के ह्रदय में देश भक्ति उमड़ती है और सम्पूर्ण भारत देश में ये राष्ट्रीय पर्व बहुत ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है। 

पहली बार कब मनाया गया था – Pahali Bar Kab Manaya Gaya Tha 

Gantantra Divas – भारत देश में पहली बार 26 जनवरी 1950 को गणतंत्र दिवस मनाया गया था। इस राष्ट्रिय पर्व के दिन भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ.श्री राजेंद्र प्रसाद ने 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा फहराया था। 

गणतंत्र दिवस के बारे में अनन्य जानकारी – Gantantra Divas Ke Bare Me Annya Jankari

  • वैसे तो आज़ादी से पहले से ही 26 जनवरी के दिन स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता था। तकरीबन 18 वर्ष तक 26 जनवरी को ही सम्पूर्ण स्वराज के रूप में मनाया जाता रहा था। 
  • आज़ादी के लिए आंदोलन से लेकर देश में संविधान लागू होने तक, 26 जनवरी का अपना अलग ही महत्व रहा है। 31 दिसम्बर 1929 को कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन में पंडित जवाहर लाल नेहरू की अध्यक्षता में प्रस्ताव पारित करवा कर के भारत देश के लिए सम्पूर्ण स्वराज की मांग की गई थी। ऐसा कहा गया था की अगर ब्रिटिश सरकार ने 26 जनवरी 1930 तक भारत देश को उपनिवेशक का दर्ज़ा नहीं दिया,तो भरत को पुर्ण रूप से स्वतंत्र घोषित कर दिया जायेगा। 26 जनवरी 1930 को पहली बार स्वतंत्रता दिवस मनाया गया था। इसी दिन जवाहर लाल नेहरू में तिरंगा फहराया था। भारत को पूर्ण रूप से आज़ादी मिलने के बाद 15 अगस्त 1947 को आधिकारिक रूप से भारत को आज़ाद देश घोषित कर दिया गया 
  • 26 जनवरी 1930 को पूर्ण अवराज का प्रस्ताव लागू होने की दिनांक को अधिक महत्व देने के लिए 26 जनवरी 1950 को भारत में संविधान लागू किया गया। इसके बाद से ही 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस घोषित किया गया। 
  • साल 1950 में भारत देश के पहले भारतीय गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने 26 जनवरी  के दिन भारत देश को एक लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित किया। उसी दिन डॉ राजेंद्र प्रसाद को भारतीय गणतंत्र के प्रथम राष्ट्रपति के रूप में सपथ भी दिलाई थी। फर उन्हें तोपों की सलामी दी गई। तभी से तोपों की सलामी की परंपरा आज तक बनि हुई है। 
  • स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) पर जहा दिल्ही के लाल किले पर कार्यक्रम होता है और देश के प्रधानमंत्री तिरंगा फहराते है और भाषण देते है। परन्तु वही गणतंत्रता दिवस (26 जनवरी) में ये कार्यक्रम जनपथ में होता है और देश के राष्ट्रपति तिरंगा फहराते है और भाषण देते है। क्योकि राष्ट्रपति हमारे देश के संवैधानिक प्रमुख होते है। 
  • दिल्ली में 26 जनवरी 1950 को पहली बार गणतंत्र दिवस के मौके पर परेड हुई। ये परेड जनपथ पर न होकर इर्विन स्टेडियम (वर्तमान में नेशनल स्टेडियम) में हुए थी। 
  • साल 1950 से 1954 के बीच दिल्ली में गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम इर्विन स्टेडियम,किंग्सवे कैम्प,लाल किला तो कभी रामलीला मैदान में आयोजित हुए। 
  • साल 1955 में पहली बार जनपथ में परेड हुई तभी से वही पर गणतंत्र दिवस की परेड होती आरही है 
  • यह परेड 8 किलोमीटर की दुरी तय करती है 
  • यह 8 किलोमीटर की परेड रायसीला हिल से शुरू होकर राजपथ,इंडिया गेट से गुजरती हुई लाल किले पर आकर ख़त्म हो जाती है। 
  • गणतंत्रता दिवस की परेड में करीब सवा लाख लोग इस परेड को देखने आते है   

 

कहा मनाया जाता है गणतंत्र दिवस – Kaha Manaya Jata Hai Gantantra Divas

Gantantra Divas – हमारा राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस स्कूल,कॉलेज, सरकारी संस्था में, गैर सकारी संस्था में एवं कई निजी व्यापारिक प्रतिष्ठानों में भी इस राष्ट्रीय पर्व को मनाया जाता है। 

गणतंत्र दिवस पर दिए जाने वाले पुरस्कार – Gantantra Divas Par Diye Jane Wale Puraskar 

Gantantra Divas -गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में हमारे भारत देश में अनेको प्रकार के पुरस्कारों का वितरण किया जाता है। जो की अपने अपने कार्य क्षेत्र में किये गए उत्कृष्ट कार्य से प्रभावित होकर सम्मान के रूप में दिए जाते है। 

आइये जानते है उन पुरस्कारों के बारे में।

परम वीर चक्र, वीरता पदक, वीर चक्र, महावीर चक्र आदि भारतीय सैनिको के सम्मान में दिए जाते है। 

पद्मा विभूषण,पद्मा भूषण,पद्मा श्री, पुरस्कार दिए जाते है। राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार,सुधर सेवा पदक, राष्ट्रपति पुलिस पदक,पुलिस शौर्य पदक, जीवन रक्षा पदक, आदि अनेको प्रकार के पुरस्कार वितरित किये जाते है। और ये सभी पुरस्कार हमारे देश के राष्ट्रपति के द्वारा दिए जाते है। और यह सभी पुरस्कार राज्य स्तर पर भी दिए जाते है। 

पुरस्कारों का महत्व – Puraskar Ka Mahatva 

Gantantra Divas – हमारे देश में अनेको प्रकार के पुरस्कार दिए जाते है। इस पुरस्कारों को देने के पीछे का रहस्य ये है की इसा करने से उस व्यक्ति का मनोबल बढ़ता है और अनन्य लोगो को भी अपने कार्य क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। इसी लिए पुरस्कार का वितरण हर कार्य क्षेत्र में होता है।  

Latet Updates

x